Friday , November 22 2019
Breaking News
Home / हमारा शहर / ‘बीजेपी शासन में बढ़े महिलाओं और दलितों पर अत्याचार’: ज्योतिरादित्य सिंधिया

‘बीजेपी शासन में बढ़े महिलाओं और दलितों पर अत्याचार’: ज्योतिरादित्य सिंधिया

मध्यप्रदेश के मंदसौर पहुंचे मध्य प्रदेश कांग्रेस के चुनाव प्रचार समिति अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्य प्रदेश सरकार और मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ‘बीजेपी शासन में दलितों और महिलाओं पर अत्याचार बढ़े हैं. प्रदेश बलात्कार के मामले में नंबर वन हो गया है. वहीं देश में भी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं. देश में लगातार महिलाओं पर अत्याचार बढ़ते जा रहे हैं.’ वहीं चुनाव प्रचार समिति अध्यक्ष ने बीजेपी सरकार पर भ्रष्टाचार का भी आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि इस बार ऐसे नए चेहरों को 30% टिकट दिया जाएगा जिन्होंने कभी विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ा है, लेकिन वे छोटे-छोटे चुनाव जीते हैं.

मध्‍य प्रदेश चुनाव में सर्वेक्षण से तय होंगे कांग्रेस के उम्मीदवार: ज्योतिरादित्य सिंधिया

पार्टी में किसी तरह की गुटबाजी नहीं है

इसी के साथ ज्योतिरादित्य ने कांग्रेस में गुटबाजी पर भी इनकार है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी में किसी तरह की गुटबाजी नहीं है. पूरी पार्टी साथ में है और साथ रहकर ही चुनाव लड़ेगी. वहीं टोने-टोटके पर विश्वास करने की बात पर उन्होंने इनकार किया है और कहा कि उन्होंने मंदसौर में किसान गोली कांड के बाद फूल की माला पहनना छोड़ दिया है. इसके साथ ही ज्योतिरादित्य ने प्रदेश सरकार पर किसानों की हत्या का भी आरोप लगाया है.

पार्टी का लक्ष्य अगला विधानसभा चुनाव जीतना है

बता दें मध्य प्रदेश में साल के अंत में चुनाव होने हैं. जिसके चलते भाजपा और कांग्रेस सहित सभी राजनैतिक पार्टियां चुनावी मोड में आ गई हैं और अब एक दूसरे की कमियां प्रदेश की जनता के सामने रख रही हैं. बता दें सिंधिया इससे पहले भी 30 प्रतिशत नए चेहरों को टिकट देने की बात कह चुके हैं. चुनाव प्रचार अभियान समिति की बैठक में हिस्सा लेने आए सिंधिया ने कहा था कि “पार्टी का लक्ष्य अगला विधानसभा चुनाव जीतना है, लिहाजा नए चेहरों को मौका दिया जाएगा. इसी के चलते प्रदेश की लगभग 70 सीटों पर ऐसे लोगों को मौका दिया जाएगा, जिन्होंने विधानसभा का कभी चुनाव न लड़ा हो, मगर यह जरूरी होगा कि उनकी राजनीतिक पृष्ठभूमि हो.”

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *