Thursday , November 21 2019
Breaking News
Home / हमारा शहर / अतिथि शिक्षकों ने पौधरोपण के संकल्प के साथ बनाई आर-पार के आंदोलन की रूपरेखा

अतिथि शिक्षकों ने पौधरोपण के संकल्प के साथ बनाई आर-पार के आंदोलन की रूपरेखा


 मण्डला –  जिले के अतिथि शिक्षक परिवार की जिला कार्यकारिणी की मीटिंग 4 अगस्त को शांति सद्भावना मंच मुख्यालय मंडला में संपन्न हुई। उपस्थित पदाधिकारियों ने हर एक अतिथि शिक्षक के द्वारा पौधे लगाकर वृक्ष बचाकर पर्यावरण का संदेश जन-जन तक पहुंचाते हुए आर-पार के आंदोलन की रूपरेखा तैयार की है। उपस्थित पदाधिकारियों ने संकल्प भी लिया गया है कि,अपने आसपास लगे वृक्षों को सुरक्षित रखने का काम हर एक अतिथि शिक्षक के द्वारा स्वयं करते हुए इस काम को पूरा कर पर्यावरण बचाने का संदेश जन-जन को देंगे। आगे की रूपरेखा बनाते हुए अपनी लंबित मांगों के निराकरण के लिए उग्र आंदोलन की रणनीति तैयार की गई है। जारी विज्ञप्ति में जिला अध्यक्ष पी डी खैरवार ने बताया है कि मंडला जिले के अतिथि शिक्षक परिवार के द्वारा अपने नियमितीकरण, कार्यानुभव के आधार पर ही अतिथि शिक्षक पद पर नियुक्ति के साथ समय पर और पूरा पूरा मानदेय दिए जाने की लंबित मांग को लेकर आर पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। जिसके लिए उग्र आंदोलन किए जाने की रणनीति तैयार की गई है।आगे बताया गया है,कि अब जिले के हर अतिथि शिक्षक अपने घर के आस-पास या अपने खेत की मेढ़ पर या शासकीय भवन या शासकीय भूमि के आसपास या विद्यालय परिसर में ही कम से कम दो पौधों का रोपण कर पर्यावरण का संदेश देते हुए उग्र आंदोलन करने का निर्णय लिया है। जिसके लिए 11अगस्त का दिन तय किया गया है।इस दिन जिले के सभी अतिथि शिक्षक अपने अधिकार पाने के लिए सरकार की अतिथि शिक्षक विरोधी नीतियों के खिलाफ आर-पार का वचन निभाओ आंदोलन छेड़ेंगे। इसके लिए सबसे पहले 11 अगस्त को सभी विकासखंड मुख्यालय में ,18 अगस्त को जिला मुख्यालय में एक दिवसीय वचन निभाओ धरना-प्रदर्शन रैली कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन फैक्स किया जाएगा ।इसके बाद 5 सितंबर 2019 शिक्षक दिवस के अवसर से भोपाल की सर जमी पर वचन निभाओ अनिश्चितकालीन आंदोलन का आगाज किया जाएगा। यह तब तक जारी रहेगा जब तक कि सरकार अतिथि शिक्षकों की मुख्य मांगों का निराकरण कर अतिथि शिक्षकों का शोषण करना बंद नहीं कर देती है। सरकार पर आरोप लगाते हुए बताया गया है कि सरकार अपने वचन पत्र में नियमितीकरण की बात तो कही है जिस को पूरा करने के लिए गूंगी बहरी बनकर बनावटी नींद में है।3 माह की समयावधि तय की गई थी।सत्ता में आने के बाद 9 माह पूरे होने के बाद भी मांग पूरी नहीं की गई है। अब तो अतिथि शिक्षक भर्ती में भी कार्य अनुभवी अतिथि शिक्षकों को वरीयता नहीं दी जा रही है।और तो और समय पर पूरा-पूरा मानदेय का भुगतान भी नहीं किया जा रहा है। हाल ही में भुगतान किए गए मानदेय में भी आधा अधूरा भुगतान किया गया है।जिससे अतिथि शिक्षक परिवार भारी आर्थिक तंगी का सामना करते तंग हो चुका है।प्रदेश का हर एक अतिथि शिक्षक कर्ज से डूबा हुआ है। जिससे शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ना रुकने का नाम नहीं ले रही है। इन सभी असहनीय समस्याओं से जूझता अतिथि शिक्षक परिवार अब भारी आक्रोश में है और अब सरकार की बनावटी नींद को खत्म करने के लिए करो या मरो आर या पार का आंदोलन करने कमर कस लिया है। अपील की गई है कि सभी अतिथि शिक्षक अपने अपने विकासखंड में 11 अगस्त को एक दिवसीय वचन निभाओ धरना प्रदर्शन करेंगे। 18 अगस्त को जिला मुख्यालय में एक दिवसीय वचन निभाओ धरना प्रदर्शन रैली तथा वचन निभाओ अनिश्चितकालीन प्रांत व्यापी आंदोलन के लिए 4 सितंबर को भारी संख्या में भोपाल के लिए कूच करेंगे।
रणनीति तैयारी की आवश्यक मीटिंग में मुख्य रूप से संगठन की जिला कार्यकारिणी से प्रहलाद झरिया, उदय जब,राजेश बेंद्रे, अजय बैरागी, राजेंद्र झरिया, रामदयाल झरिया दुर्गेश नंदा,जागेश पटेल एवं संतोष भांवरे आदि शामिल रहे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *