हमारा शहर

समाज सेवियों ने मनाई चन्द्र शेखर आजाद की 113 वी जयंती।

मण्डला – महान क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद की जयंती के अवसर पर पूरा देश उनको याद कर रहा है। चंद्रशेखर आजाद भारत के उन महान क्रांतिकारियों में से एक हैं जिनके नाम से अंग्रेज कांपा करते थे । भारत माता के वीर सपूत चंद्रशेखर आजाद को उनकी जयंती पर नमन। वह एक निर्भीक क्रांतिकारी थे जिन्होंने देश के लिए अपने प्राणों का बलिदान दे दिया। चंद्रशेखर आजाद का जन्म 23 जुलाई 1906 को मध्य प्रदेश में हुआ था। बेखौफ अंदाज के लिए जाने जाने वाले चंद्रशेखर सिर्फ 14 साल की उम्र में 1921 में गांधी जी के असहयोग आंदोलन से जुड़ गए थे। गांधीजी द्वारा असहयोग आंदोलन को अचानक बंद कर देने के कारण उनकी विचारधारा में बदलाव आया और वे हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन के सक्रिय सदस्य बन गए। मंडला नगर में रानी दुर्गावती वार्ड में चोक में स्थापित चन्द्र शेखर आजाद की प्रतिमा पर नगर के समस्त समाजसेवियों द्वारा मल्यणपन एवं फूलमाला अर्पित कर 113 वी जयंती मनाई गई उपस्थित जिसमे नगर के समाजसेवी जिला अध्यक्ष रेणु कच्छवाहा, सुनील मिश्रा , श्रीमती अनीता तिवारी , सारिका मिश्रा , आरती राजपूत , नाहिद तबस्सुम , उमा यादव , विज्या दुबे , रामकृष्ण तिवारी , रमेश सैयाम आदि उपस्थित रहे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close